सोमवार, 25 अक्तूबर 2010

एक सिंपल दोस्त और एक पंजाबी दोस्त : खुदे कंपेयर करिए....झाजी की बकबक






एक सिंपल दोस्त : माफ़ करना यार शायद मेरी गलती थी

एक पंजाबी दोस्त :- ओए तेरी गलती है साल्या ..



एक सिंपल दोस्त :- मैंने तुम्हें बहुत मिस किया यार ..

पंजाबी दोस्त :-ओए कित्ते मर गया सी ओए ........



एक सिंपल दोस्त :_ मुझे तुम्हारी फ़िक्र रहती है यार

एक पंजाबी दोस्त :- थ्वाणु छड्ड के कित्थे जाणा है यार ...



एक सिंपल दोस्त :- मैं तेरी सफ़लता से बहुत खुश हूं

एक पंजाबी दोस्त:-चल पार्टी दे होटल विच ...दारू शारू लावांगे



एक सिंपल दोस्त :- ज़रा धीरे चला यार

एक पंजाबी दोस्त:-तेज़ भज़ा हरामखोर ,अग्गे स्विफ़्ट विच निरि अग्ग बैठी ए .....




एक सिंपल दोस्त :- यार मैं उस लडकी से प्यार करता हूं

एक पंजाबी दोस्त:-इज्जत नाल वेखो कुत्त्यो .......ओ थ्वाडी परजाई है ...

6 टिप्‍पणियां:

  1. की गल है भाई साहब...........:)
    आपने तो मजा ला दिया........:D

    उत्तर देंहटाएं
  2. ye kya hai bhai muzhe to kuch samajh me nahi aaya ??????????????

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे नवीन भाई ..चुटकुले थे और क्या ....यार लग तो चुटकुले से ही रहे हैं ..अब कुछ और भी हों तो कह नहीं सकता ....

    उत्तर देंहटाएं
  4. सही कह रहे हो वकील साहब, वैसे सिंपल दोस्त की जगह बिहारी बाबू रहता तो आपका डैडली कांबो पैक और ज्यादा छा जाता।
    पार्टी शार्टी कदों दे रहे हो फ़िर?

    उत्तर देंहटाएं
  5. ओय तुस्सी ग्रेट हो यार...

    उत्तर देंहटाएं