शनिवार, 6 नवंबर 2010

आईये आपको सिखाते हैं कि एक ठो अदद पोस्ट ..स्टेप बाई स्टेप ...कैसे लिखते हैं ...एक्सक्लुसिव टुसन है जी ..



कल इस पोस्ट को बिटिया बेटा के ब्लॉग पर भी लगया था , मगर जनहित में जारी टाईप की फ़ीलींग से इसे आज यहां चिपकाया जा रहा है , आप श्रद्धानुसार कहीं से भी लाभ उठा सकते हैं ....


इसके लिए आपको सबसे पहले करना ये है कि अपनी आस्तीन को चढाइए , कमरबंद को सख्त करिए ,और सबसे पहले तलाश करिए एक अदद कुर्सी , अरे भाई आजकल एक कुर्सी होना बहुत कंपलसरी है जी , न प्रधानमंत्रा की सही संतरी की भी चलेगी , तो उसको तलाशिए, और उसके ऊपर चढने का जुगाड करिए ,




इसके लिए आप चाहें तो पहले कुर्सी को मन के मुताबिक सेट करिए , क्योंकि कुर्सी को थोडी पता है कि . कौन बडा ब्लॉगर है कौन छोटा , वो तो बाद में हरकतों से ही पता चलता है


इसके बाद आप लपक कर उस पर जा बैठिए , अरे लपक कर इसलिए क्योंकि जिस हिसाब से ब्लॉगर बन रहे हैं या फ़िर जितने स्पीड से ब्लॉग बन रहे हैं , उसमें ज़रा सी देरी आपको ब्लॉगस्पॉट से डॉट कॉम तक का सफ़र करते अफ़सोस भी हो सकता है ...

आप उस पर अच्छी तरह जम जाईये , क्योंकि इस सफ़र पर आपको किसी भी स्पीड , किसी भी हाइवे , पगडंडी , और यहां तक कि कभी कभी जेट वे पर भी दौडना पड सकता है , हां ये हो सकता है कि इस बीच आपको एक पापा टाईप के प्राणी ध्यान भंग करने की कोशिश करें , मगर आप हिलना मत

बस बैठते ही जांच पडताल शुरू कर दीजीए , ध्यान रहे , यदि आप ब्लॉगर बनना चाहते हैं तो पहला और आखिरी रुल नेट पर बैठते ही कमेंट मारना शुरू कर दें , सेकेंड का सदुपयोग स्माइली लगा कर भी किया जा सकता है

बेशक वो पापा टाइप की चीज़ अलग अलग एंगल से आपकी तंद्रा को भंग करने की कोशिश करें , मगर आपका ध्यान बिल्कुल वैसे नहीं भटकना चाहिए , जिस तरह से बहुत से ब्लॉगर्स का ध्यान रैंकिग की उठापटक से नहीं भटाकता ...
हां हो सकता है कि ब्लॉगिंग के दौरान आपकी फ़्लाइट कई बार , कलाबाजी भी मारे तो आप एक कुशल पायलट की तरह हर एंगल से ट्राई कर लीजीए ब्लॉगिंग को ड्राईव करने के लिए

बस फ़िर क्या फ़िर तो दे दनादन दे दनादन ..बस आप ब्लॉगर बनने को ही हैं ..लगे रहिए .........


जैसे ही आप ब्लॉगिंग शुरू करेंगे , आपके कंप्यूटर की , सीपीयू, माऊस ,सब एकाएक डेंगू से पीडित होने का दरख्वास्त करेंगे . मगर आप धोखे में न पडकर ससुरों को उलटा टांग कर दुरूस्त करिएगा , पहले माऊस को ही पकडिए , अरे ये भी ब्लॉंगिंग का एक दस्तूर है कि पहले चूहों को ही उलटा किया जाता है शेर के नाक में खुजली करना गलत बात होती है जी ....

लिजीए अब आप ब्लॉगर बनकर पोस्ट लिखिए ..और क्या लिखना अब ये अगली क्लास में पता चलेगा आपको आएंगे न




6 टिप्‍पणियां:

  1. बहुतै बढिया, एक नया ब्लागर और तैयार हो गया।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्लागर निर्माण फैक्टरी

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह वाह नये ब्लोगर का स्वागत है ये तो बिल्कुल तैयार है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. ब्लोगर को ब्लोगर मिला... कर के लंबे हाथ..
    कर के लंबे हाथ..
    विचार पोस्ट बन जाएँ..टिप्पणियाँ ढेरों मिले लगे हाथ

    उत्तर देंहटाएं