शुक्रवार, 26 नवंबर 2010

.दिसंबर में फ़िर से एक ब्लॉग बैठक करने वाले हो ................जी , हां ...शायद ....................यार बाई गॉड पूरे उल्लू के






अभी थोडी देर पहले ही फ़ेसबुक पर स्टेटस अपडेट किया ...ये

एक फ़ोन आया ... सुना है कि आप लोग ...दिसंबर में फ़िर से एक ब्लॉग बैठक करने वाले हो ................जी , हां ...शायद ....................यार बाई गॉड पूरे उल्लू के ..........हो....फ़ोन कट



हमारे एक दोस फ़ौरन हमें काल करके बोले ...सारा रोमन बाला उन्हीं का है , और अंग्रेजी में लिखा हुआ अजय हम ही हैं ..माने झाजी ..देखिए


Lakshmi ne phone kiya tha kya?

ajay: हां लक्षमी जी खुद थी लाईन पर

: ha ha ha
kya Swari ganthane ke unka irada hai?

ajay: पता नहीं अभी कंफ़र्म तो नहीं हुआ है उनका मकसद मगर उन्होंने मुझे प्रोपरली पहचान लिया ये कम बडी बात नहीं रही

: arthat mamala ulata hai... swarth aapaka hai .... ha ha ha

ajay: जी मगर बातों से ऐसा लग रहा था कि लक्षमी जी जरूर एक बीमा पॉलिसी पर साईन ले कर जाएंगी ...घोर स्वार्थी टाईप से

yadi ve svayam aati hai to policy me koi burai to nahee ?

ajay: अजी क्या पता बाद की किस्तों के लिए यमराज से दूत अपाईंट कर रखे हों

: arey kya baat kar di aapane?

ajay: वैसे लक्षमी ने ऐसे कोई एक्सप्रेसन दिए तो नहीं थे
इसलिए एक ब्लाईंड गेस था
वैसे भी मैंने सोचा कि लक्षमी जी अपने उल्लू के सामने सलेक्टेड एक्सप्रैशन ही देती होंगी

अभी अभी चैटिया रहा था एक दोस

8 टिप्‍पणियां:

  1. अजय जी हर माह एक सम्मलेन होनी चाहिए और वो भी सामूहिक सहयोग से.....इस बारे सोचियेगा.....बहरहाल आपके दिसंबर माह के सम्मलेन के लिए हार्दिक शुभकामनायें और अग्रिम बधाई....

    उत्तर देंहटाएं
  2. अग्रिम शुभकामनाएं दे देते हैं… बाद में पता नहीं क्या हो… :) :) :)
    चार स्माइली और्।॥

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस बात तो हम भी अग्रिम शुभकामनाएं ही दिए देते हैं , इस साल की गाली सुनने का कोटा अब खत्म हो गया है :) :) :) :)

    उत्तर देंहटाएं